पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने प्रैसवार्ता कर भाजपा सरकार पर साधा निशाना

ऊधम सिंह, पलवल सिटी

पलवल। हरियाणा के पूर्व मंत्री तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता करण सिंह दलाल ने कहा है कि भाजपा सरकार द्वारा जिस तरह से सरकारी संपत्तियों को बेचने का काम किया जा रहा है, उससे देश बरबादी की तरफ बढ़ रहा है। देश के चंद उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए देश की जनता को गरीबी की तरफ धकेला जा रहा है। करण सिंह दलाल सोमवार को यहां जेसीबी स्कूल में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उनके साथ कांग्रेस नेता एसके शर्मा, यशपाल मावई, डॉ. वीरेंद्र सिंह तथा निखिल भारद्वाज भी थे। पूर्व मंत्री दलाल ने कहा कि किसानों पर करनाल में लाठियां बरसाकर सरकार ने साबित कर दिया है कि उनकी नजर में न तो किसान है और न ही आम जनता। किसानों का इस तरह से अपमान करने का खामियाजा भाजपा सरकार को भुगतना पड़ेगा। भाजपा सरकार की उल्टी गिनतियां शुरू हो गई हैँ। उन्होंने बताया कि सरकारी संंपत्तियों को नीलाम करने, किसानों की आवाज दबाने की कोशिश करने तथा अन्य जनहित के मुद्दों को लेकर कांग्रेस द्वारा दो ‌सितंबर को लघु सचिवालय पर प्रदर्शन किया जाएगा।

दलाल ने कहा कि पलवल जिले में भी लूटपाट व भ्रष्टाचार का खेल तो चल ही रहा है साथ ही भाजपा के कुछ  नेता पुलिस अधिकारियों से मिलकर कहीं दुकानों पर कब्जे कर रहे हैं तो कहीं लोगों को डरा धमकाकर उनसे जबरन उनकी प्रापर्टी खरीदने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि आज पलवल के लोगों को हर तरह से लूटा जा रहा है। भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच चुका है। नगर परिषद, तहसील कार्यालय तथा अन्य बड़े सरकारी विभागों में बिना रिश्वत दिए कोई काम नहीं होता है। भाजपा के नेता पैसों से अपनी जेब भरने का काम कर रहे हैं। जगह-जगह अवैध रूप से कालोनियां काटी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पलवल के लोगों को लूट रहे उन भाजपा नेताओं का ऐसा हाल किया जाएगा कि वे पलवल में रहने से भी डरेंगे। इतना ही नहीं भाजपा नेताओं के दम पर पलवल में गुंडागर्दी करने वाले अधिकारियों का भी इलाज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दो सितंबर को पलवल के लघु सचिवालय पर जिला स्तरीय प्रदर्शन किया जाएगा। जिससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं व नेताओं के अलावा आम लोग भी शामिल होंगे। दो सितंबर से सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

One thought on “पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने प्रैसवार्ता कर भाजपा सरकार पर साधा निशाना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *